चालू खाता क्या होता है, कैसे खुलवाऐं।

बैंकिंग​ सिस्टम से जुडने के लिये बैंक खाता होना बेहद जरूरी होता है। जब आप बैंक मे खाता खुलवाने जाते हो तो अक्सर आप से पूंछा जाता है कि आपको बचत खाता खुलवाना है या चालू खाता। अक्सर लोग इस कन्फ्यूजन में रहते हैं कि वे कौन सा खाता खुलवाऐं। पिछली पोस्ट में आपने जाना था कि बचत खाता क्या होता है इस पोस्ट में आप जानोगे कि चालू खाता क्या होता है और चालू खाता कैसे खुलाया जा सकता है।

चालू खाता क्या होता है

चालू खाता जिसे अंग्रेजी में Current Account भी कहते हैं। ये खाता बचत खाते से कुछ मामलों में अलग होता है। चालू खाता ऐसे लोग खुलवाते हैं जिनके लेन—देन बहुत ज्यादा रहता है जिन्हे दिन में कई लेन—देन करने होते हैं या फिर बडे लेन—देन करने होते हैं। चालू खाता बेसिकली बिजनेस के मतलब से खुलवाया जाता है। चालू खाते में लेन—देन की कोई सीमा नही होती है। अगर आप एक व्यापारी हैं तो आप चालू खाता जरूर खुलवाऐं। चालू खाता आप पर्सनल इस्तेमाल के लिये भी खुलवा सकते हैं लेकिन पर्सनल इस्तेमाल के लिये चालू खाता ज्यादा फायदेमंद नही होता है, अगर आप पर्सनल इस्तेमाल के लिये खाता खुलवाना चाहते हैं तो बेहतर है कि बचत खाता खुलवाऐं। चालू खाता फर्म, कम्पनियों आदि के लिये जरूरी होता है।

ये भी पढें
1. बैंक क्या है, बैंक कैसे काम करते हैं
2. बैंक खाते क्या होते हैं ये कितने प्रकार के होते हैं
3. बचत खाता क्या होता है, बचत खाता कैसे खुलवाऐं

चालू खाते के फायदे

1.चालू खाते पर लेन-देन की कोई लिमिट नही होती है। इसलिये अगर आप बडे या एक से ज्यादा लेन-देन करते हैं तो चालू खाता आपके लिये फायदेमंद हैं।

2.चालू खाते पर चेकबुक जारी की जाती है जिसमें बचत खाते पर जारी की गई चेकबुक से ज्यादा चेक होते हैं। आप चेक बुक के इस्तेमाल से नाॅन कैश ट्रान्जेक्शन कर सकते हैं।

3.चालू खाते पर इण्टरनेट बैंकिंग की सुविधा दी जाती है जिससे आप घर बैठे ही बैंकिंग सुविधाओं का लाभ ले सकते हो और इस पर भी कोई लिमिट नही होती है।

4.चालू खाते पर आपके ट्रान्जेक्शन के अनुसार बैंक ओवरड्राफ्ट या लिमिट की सुविधा देती हैं जिसके इस्तेमाल से आप खाते में जमा पैसों से ज्यादा पैसा बैंक से निकाल सकते हो।

चालू खाते के नुकसान

1.चालू खाते में आपको एक न्यूनतम धनराशि 10000 रूपये या इससे अधिक जमा करने होते हैं। जिन्हे आप निकाल नही सकते। अगर आप की खाते में न्यूनतम धनराशि के कम धनराशि होती है तो बैंक आप से चार्ज बसूलना शुरू कर देते हैं।

2.चालू खाते पर किसी भी प्रकार का ब्याज नही मिलता है। इसलिये किसी भी व्यक्ति को पर्सनल इस्तेमाल के लिये ये खाते नही खुलवाने चाहिये।

चालू खाता कैसे खुलवाऐं

अगर आप व्यक्तिगत इस्तेमाल के लिये चालू खाता खुलवा रहे हो तो आपको बचत खाते की तरह ही पहचान व पते का प्रमाण देना होगा। लेकिन अगर आप किसी बिजनिस, संस्था, क्लब, फर्म या कम्पनी के लिये चालू खाता खुलवा रहे हो तो आपको उस बिजनिस, संस्था, क्लब, फर्म या कम्पनी के लीगल डोक्यूमेंन्ट की छायाप्रति भी बैंक में जमा करवानी होगी।

चालू खाता खुलवानें के लिये आवश्यक दस्तावेज

चालू खाता खुलवानें के लिये खाताधारक को अपनी पहचान के प्रमाण के लिये आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस में से कोई एक प्रुफ और पते के प्रमाण के लिये आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, मूल निवास, राशन कार्ड, बिजली का बिल, किराये की रसीद आदि में से कोई एक प्रुफ देना होता है। वहीं अगर आप किसी बिजनिस, संस्था, क्लब, फर्म या कम्पनी के लिये चालू खाता खुलवा रहे हो तो आपको उस बिजनिस, संस्था, क्लब, फर्म या कम्पनी के लीगल डोक्यूमेंन्ट की छायाप्रति भी बैंक में जमा करवानी होगी।

उम्मीद है कि इस आर्टिकल में आपको चालू खाते के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप हमें कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूंछ सकते हो। हमारा उद्देश्य अपने पाठकों को बेहतर कंटेंट उपलब्ध कराना हैं। आपके सुझाव और ​शिकायत कमेंट बॉक्स में आमंत्रित हैं।

अगर आपको हमारे आर्टिकल अच्छे लगते हैं तो हमारे फेसबुक पेज को लाइक करके हमसे जुडें। आप हमें टिवटर पर भी जुड सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here